"टाइटैनिक : एक जहाज़" - Hindi Biography World

Breaking

Follow by Email

Thursday, October 25, 2018

"टाइटैनिक : एक जहाज़"


टाइटैनिक एक जहाज़ 

टाइटैनिक एक जहाज,
याद है,
जो था बहुत विशाल,
बहुत लम्बा, बहुत चौड़ा,
जिसपर सवार थे सपने,
जो उफान मारता हुआ,
समंदर को नीचा दिखाता,
अपनी धुन में मगन,
बस चलता जा रहा था,
आगे ही आगे बढ़ता जा रहा था,
जिस मानवनिर्मित चीज़ ने
कूदरत को चुनौती दी,
जिस में शामिल थी सैकड़ों आशाए,
शताब्दी भर का अनुभव,
इक रोज समंदर में लहराते हुए,
पानी को नीचे रहने का गुन बताते हुए,
जा टकराया उस चट्टान से,
समंदर तब्दील हुआ श्मशान से,
यूहीं मौजे लेता, मदमस्त जहाज,
हो गया गुम,
सोचो मै टाइटैनिक,
वो चट्टान हो तुम,

©® Kavi Agyat 

Related Post

No comments:

Post a Comment